देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है. इस की वजह से लॉकडाउन की घोषणा के बाद लगातार देश की आर्थिक स्थिति में दिनोदिन गिरावट दर्ज की जा रही थी. ऐसे में किसानों व मजदूरों को ले कर सरकार समयसमय पर अपनी चिंता जाहिर करती रही साथ ही उन के लिए छूट की घोषणाएं भी की गई. लेकिन कोरोना महामारी के बीच एक और आफत ने देश में कदम रख चुका है.

टिड्डियों का हमला

हालांकि यह कोई महामारी नहीं बल्कि रेगिस्तानी टिड्डियों का हमला है. राजस्थान के जयपुर में टिड्डियों का हमला देखने को मिला. टिड्डियों के आतंक से राजस्थान के लगभग 16 जिले प्रभावित हुए हैं. राज्य कृषि विभाग की मानें तो टिड्डियों ने राज्य में 50 हजार हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्रफल को प्रभावित किया है. पिछले साल भी टिड्डियों ने ऐसा ही हमला किया था. तब करीब 7 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में उगाई गई फसलों को टिड्डियों ने बरबाद कर दिया था.

टिड्डियों का आतंक इस साल भी कृषि विभाग के लिए चिंता का सबब बन चुका है. कृषि विभाग की मानें तो टिड्डियों का झुंड भोजन की तलाश में गर्मी से बचने के लिए राज्य के दक्षिण और पूर्व दिशा की ओर तेजी से बढ़ रहे हैं.

ये भी पढ़ें-बाटीचोखा कारोबार

टिड्डियों के आतंक को ले कर अधिकारियों का कहना है कि हालांकि पहले टिड्डियों का ब्रीडिंग सेंटर अफ्रीकन देश हुआ करते थे. वहां से इन्हें भारत आने में काफी वक्त लगता था लेकिन पिछले साल इन्होंने अफगानिस्तान और पाकिस्तान सीमा पर अपना ब्रीडिंग सेंटर बनाया. इस बाबत पाकिस्तान सरकार ने इन टिड्डियों पर नियंत्रण पाने को लेकर किसी तरह का प्रयास नहीं किया. इस कारण लगातार पिछले ही साल से टिड्डियों के इस तरह के हमले देखने को मिल रहे हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT