धर्म, जाति का प्यार मुहब्बत को देखने का अपना नजरिया है जो बेहद संकीर्ण है. अलग अलग धर्म, जाति के युवा लड़के लड़कियों का प्यार धर्म, जाति को सुहाता नहीं है. जो लड़का लड़की उम्र, शिक्षा, व्यवसाय में भले ही बराबरी वाले हों और एकदूसरे से प्यार करने लगते हैं तो यह रिश्ता धर्म के दायरे से बाहर होता है. धर्म इस रिश्ते को मान्यता नहीं देता.

COMMENT