इन दिनों जहां लोग सोशल मीडिया के दीवाने हैं वहीं देश का किसान भी सोशल मीडिया का भरपूर फायदा उठा रहा है. वह इंटरनैट का बेहतर इस्तेमाल कर आम किसान से उन्नत किसानी की ओर बढ़ रहा है. उसे इस प्लेटफौर्म पर खेती की नईनई तकनीक व जानकारियां हासिल होती हैं और वह इन का भरपूर इस्तेमाल कर उन्नत खेती करने में सक्षम हो रहा है.

कुछ ऐसी ही कहानी है हरियाणा के फतेहाबाद जिले के जाखल खंड के चुहुड़पुर गांव के प्रगतिशील किसान हरविंदर सिंह लाली की. इस सुशिक्षित युवा ने सूचना तकनीकी का सदुपयोग कर तरक्की की राह पकड़ी और आज अच्छा खाकमा रहा है. हरविंदर ने यूट्यूब और व्हाट्सऐप पर आधुनिक खेती की तमाम जानकारी हासिल कर अच्छी पैदावार प्राप्त की. उन्होंने अपनी फसल बेचने के लिए भी इसी प्लेटफौर्म का इस्तेमाल किया और बिचौलियों से नजात पाई.

हरविंदर ने सूचना क्रांति का भरपूर इस्तेमाल कर खेती में हाथ आजमाया और खेती के आधुनिक तौरतरीकों की खोज में लग गया. उस ने बोआई से ले कर कटाई और खाद तैयार करने की तमाम विधियों का सोशल मीडिया पर अच्छी तरह अध्ययन किया. इन तमाम तौरतरीकों के यूट्यूब पर वीडियो देखे और उन से खास जानकारी हासिल की. यही नहीं, हरविंदर ने सफल किसानों के वीडियो देख कर उन पर गहराई से सोचविचार किया, ताकि उन से कोई गलती न हो. हरविंदर कहते हैं कि उन्हें मालूम है कि यह दौर जैविक खेती का है, इसलिए वे इस में दिलोजान से लग गए. उन की महज डेढ़ एकड़ से शुरू की खेती में गुणात्मक इजाफा हुआ. जब खेती का रकबा बढ़ा तो उपज ने भी छलांग लगाई.

उन की पैदावार अब लगभग दोगुना हो गई है. धान और गेहूं की जैविक तरीके से हासिल उपज के लिए उन्होंने बाजार भी व्हाट्सऐप और फेसबुक पर ही तलाश लिया. हरविंदर सिंह ने एडवांस में ही सोशल मीडिया पर अपनी आने वाली जैविक खेती की जानकारी शेयर की और चंद मिनटों में ही उन की फसल बुक हो गई. इस की उन्हें वाजिब कीमत मिली यानी दलालों के चंगुल में फंसने से वह बच गया.

हरविंदर के अनुसार उन के 50 क्विंटल गेहूं की बुकिंग महज 20 मिनट में हो गई. वह बताते हैं कि एक प्लास्टिक के ड्रम में 20 लिटर लस्सी या छाछ और 2 किलोग्राम नीम के पत्ते तांबे के बरतन में रख देते हैं, उस में आधा किलोग्राम लहसुन डाल देते हैं. इस से कुछ दिनों बाद जैविक कीटनाशक तैयार हो जाता है. हरविंदर बताते हैं कि यदि फसल में फंगस कीट, सूंडी आदि की बीमारी लगती है तो इस जैविक कीटनाशक का इस्तेमाल करने से इन से नजात पाई जा सकती है.

Tags:
COMMENT