राजूराम नायक एटीएम में रुपए डालने वाली एक कंपनी में काम करता था. इसलिए वह कैशवैन की सुरक्षा से संबंधित खामियों को जानता था. इसी का फायदा उठाते हुए उस ने एक दिन अपने साथियों के साथ कैश वैन से 74 लाख रुपए बड़ी आसानी से लूट लिए. काफी कोशिश के बाद पुलिस फेसबुक से लुटेरों तक पहुंच ही गई. फिर...  —

राजस्थान में नागौर जिले का एक शहर है मकराना. मकराना का मार्बल पत्थर पूरे भारत में प्रसिद्ध है. देश की कई ऐतिहासिक

और प्राचीन इमारतों में मकराना का पत्थर लगा हुआ है. मकराना के पास ही बोरावड़ कस्बा है.

बीती 22 अप्रैल की बात है. विभिन्न बैंकों के एटीएम में पैसे डालने वाली वैन दोपहर करीब 3 बज कर 50 मिनट पर बोरावड़ पहुंची. वैन में सवार लोगों ने पीएनबी के एटीएम में 18 लाख रुपए डाले. इस के बाद वैन परबतसर व बडू के एटीएम में रुपए डालने के लिए रवाना हो गई.

वैन मकराना का रहने वाला रमेश चला रहा था. वैन में पलाड़ा निवासी गार्ड प्रताप सिंह के साथ 2 अन्य कर्मचारी करतारपुरा निवासी कस्टोडियन संजू सिंह और मकराना निवासी कमल किशोर माथुर भी सवार थे. गार्ड प्रताप सिंह के पास बंदूक थी. सीएमसी इंफो सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की इस वैन से मकराना बोरावड़ परबतसर आदि इलाकों में एसबीआई, पीएनबी, बैंक औफ बड़ौदा, आईसीआईसीआई बैंक और ओरियंटल बैंक औफ कौमर्स के एटीएम में रुपए डाले जाते थे.

वैन बोरावड़ से आधा किलोमीटर दूर छापर बस्ती के पास बिदियाद रोड पर पहुंची थी. चालक रमेश अपनी धुन में वैन चला रहा था. वैन में सवार गार्ड प्रताप सिंह और 2 अन्य कर्मचारी आपस में बातें कर रहे थे. तभी पीछे से एक जीप ने हौर्न बजाया.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT