कुछ समाचार पत्रों में प्रकाशित जरा इन विज्ञापनों पर नजर डालिए-

  • नौकरी की 100 प्रतिशत गारंटी. नीचे दिए गए नंबर पर संपर्क करें और नौकरी से जुड़ी सभी जानकारी पाइए.
  • सस्ते पैकेज के साथ यह कोर्स कीजिए और बड़ी कंपनियों में प्लेसमेंट पाइए.
  • घरेलू नौकर आपके काम और इच्छा के अनुसार. नीचे दिए गए नंबर पर संपर्क करें. यह कुछ ऐसी लाइने हैं जिसे समाचार पत्रों में हम अक्सर देखते हैं. यह प्रचार प्लेसमेंट एजेंसियों की होती हैं.

पढ़ाई पूरी करने के बाद जहां स्टूडेंट्स के मन में पहला सवाल प्लेसमेंट और जौब को लेकर आता है. ऐसे में वो मदद लेते हैं प्लेसमेंट एजेंसी की जो प्लेसमेंट दिलवाने का दावा करते हैं. लेकिन कुछ ऐसी एजेंसी भी हैं जो सिर्फ और सिर्फ धोकाधड़ी का काम करती हैं. जो स्टूडेंट्स से प्लेसमेंट का दावा करती है और बदले में अच्छा खासा रकम वसूलती हैं और मौका पाते ही ये नौ दो ग्यारह भी हो जाती हैं. प्लेसमेंट एजेंसी की धोकाधड़ी आए दिन सुनने को मिलती है. लेकिन फिर भी लोग इसके काले जाल में फंसते चले जाते हैं.

ऐसे बहुत से केस है जो फर्जी प्लेसमेंट एजेंसी से जुड़े हैं.

दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हिमानी ने बताया कि उनके साथ भी ऐसा फरेब हो चुका है. हिमानी को पढ़ाई के अलावा थिएटर में भी रुचि थी. हिमानी कौलेज के प्रथम वर्ष में थी जब बाहर से किसी एक्टिंग इंस्टीट्यूट के 2 लोग उनके कौलेज में आए थे. उन्होनें बताया कि उनका इंस्टीट्यूट 6 महीने का एक्टिंग कोर्स करवाता हैं. जिस में से एक महिना वो लोग मुंबई भेजते हैं फिल्म इंडस्ट्री के लोगों के साथ काम सीखने. उसके बाद यह लोग इंडस्ट्री में काम भी दिलवाते हैं. यह सुनकर हिमानी और उसके क्लास के अधिकतर बच्चों कि रुचि बढ़ गई. इस एक्टिंग क्लास में दाखिला लेने के लिए स्टूडेंट्स को 1100 का रजिस्ट्रेशन फी देना था. बहुत से स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन फी दिया जिसके साथ उन्हें एक स्लिप दी गई जिसमें फोन नंबर और पता दिया गया था. और उन्हें 2 दिन बाद इंस्टीट्यूट आने को कहां गया. हिमानी बताती है.,“जब मैं और मेरे दोस्त उस पते पर पहुंचे तो वहां कोई इंस्टीट्यूट नहीं था. जब हमने उन लोगों को कॉल किया तो उनका नंबर भी नहीं लगा. हम लोगों ने करीब 1 महीने तक ट्राई किया लेकिन नंबर गलत बताया जा रहा था.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT