ज्ञानविज्ञान और तर्कशक्ति के विकास तथा वैचारिक बहस के केंद्र विश्वविद्यालयों को प्रगतिशीलता की बजाय मेंढकों का कुआं बनाया जा रहा है. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालयों में पिछले कुछ समय से पुरानी विचारधारा थोपने की कोशिशों के बीच अब दिल्ली विश्वविद्यालय में इस तरह के प्रयास किए जा रहे हैं.

COMMENT