13 साल के लगभग का वक्त गुजरने के बाद अब इस राज से पर्दा उठ रहा है कि आखिरकार क्यों 21 अगस्त 2004 को साध्वी, भागवद विशेषज्ञ और राम भक्त उमा भारती को मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री पद से इस्तीफा देकर हटना पड़ा था. कहने को तो हुआ इतना भर था कि उमा ने कर्नाटक के एक शहर हुबली के ईदगाह मैदान में साल 1994 में राष्ट्रीय झण्डा फहराया था, यह ईदगाह मैदान देश के उन लाखों विवादित स्थलों जैसा है जिस पर हिन्दू और मुसलमान दोनों धर्मों के लोग अपना हक जताते हैं. चूंकि धार्मिक हक जताने के लिए हिंसा एक अनिवार्य तत्व है इसलिए हुबली में भी इतनी हिंसा हुई थी कि प्रशासन को वहां कर्फ्यू लगाना पड़ा था और उमा पर भड़काऊ भाषण देने और धार्मिक उन्माद फैलाने के अलावा तिरंगे के अपमान सहित 13 आपराधिक मामले दर्ज हुये थे जिनमें से एक हत्या की कोशिश का भी था.

COMMENT