पिछले साल आए तेज भूकंप के झटकों से नेपाल उबर भी नहीं पाया था कि पिछले 4 महीने से जारी मधेशी आंदोलन ने नेपाल की पर्यटन इंडस्ट्री की कमर पूरी तरह से तोड़ दी है. हर साल करीब 8 लाख विदेशी पर्यटक नेपाल पहुंचते हैं. नेपाल को होने वाली कुल कमाई का 52 फीसदी हिस्सा पर्यटन उद्योग से ही आता है. भूकंप ने जहां कई ऐतिहासिक इमारतों और पर्यटन स्थलों का नामोनिशान मिटा डाला वहीं मधेशियों की लड़ाई, हिंसा, आगजनी और पुलिस फायरिंग से घबरा कर बचेखुचे पर्यटक भी अब नेपाल जाने से कतराने लगे हैं.

Tags:
COMMENT