जल को ले कर हम कितने संवेदनहीन और गैरजिम्मेदार हैं, यह तो देश में विकराल होते जल संकट से आसानी से सम?ा जा सकता है. संवेदनहीनता की हद पार करते हुए कुछ नामी लोग तो जल संकट की समस्या का मजाक उड़ाते भी दिखते हैं.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के कई इलाके सूखे की चपेट में हैं, जिस के चलते कई किसान अपनी फसल और जानवरों के लिए पानी उपलब्ध न कर पाने की बेबसी में प्रशासन से खुदकुशी तक की गुहार लगा चुके हैं. इसी बीच, सरकार में शामिल राष्ट्रवादी कांगे्रस पार्टी के मुखिया शरद पवार के भतीजे अजित पवार बड़ी ही बेशर्मी से कहते हैं कि जब बांध में पानी है ही नहीं तो क्या पेशाब कर के दें पानी?

COMMENT