सवाल

मैं 31 वर्षीय युवती हूं. मेरे घर वाले पढ़ेलिखे होने के बावजूद अंधविश्वासी हैं. उन के अनुसार शादीब्याह में लड़केलड़की की जन्मकुंडली मिलनी निहायत जरूरी है वरना शादी सफल नहीं होती. जन्मकुंडली मिलाने के चक्कर में ही कई अच्छेअच्छे विवाह प्रस्ताव हाथ से निकल गए. मैं इन बातों को नहीं मानती पर बोल भी नहीं सकती. मेरी सभी सहेलियों के विवाह हो गए हैं पर मैं अभी तक कुंआरी हूं. इतना ही नहीं इस के लिए भी मेरी मां मुझे ही दोष देती हैं कि मैं अच्छा नसीब ले कर पैदा नहीं हुई. क्या करूं कुछ समझ में नहीं आ रहा?

ये भी पढ़ें- एक लड़का मेरे ईमेल से जानकारी एकत्र कर मुझे और मेरे परिवार को परेशान कर रहा है, क्या करूं?

जवाब

आज लोग चांद तक जा पहुंचे हैं और हमारे देश में कुछ लोग ऐसे हैं, जो पंडेपुजारियों द्वारा ईजाद किए अंधविश्वासों में फंस कर बेवकूफ बन रहे हैं. आप के घर वालों को समझना चाहिए कि पहले ही आप की उम्र काफी हो गई है. यदि 1-2 साल उन्होंने इन जन्मकुंडलियों के चक्कर में और निकाल दिए तो फिर आप की शादी होना और कठिन हो जाएगा. आप मैच्योर हैं. स्वयं भी किसी मैरिज ब्यूरो या शादी डौट कौम आदि के माध्यम से अपने लिए जीवनसाथी तलाश सकती हैं.

ये भी पढ़ें- मेरी बेटी अरेंज मैरिज में विश्वास नहीं करती, मेैं क्या करूं?

Tags:
COMMENT