सवाल
मैं 27 साल की विवाहिता हूं. विवाह को 2 वर्ष हुए हैं. हमारी शादी घर वालों की मरजी से हुई थी. पति अपने ही शहर में नौकरी करते थे. साल भर कोई भी परेशानी नहीं हुई. पर 1 साल के बाद पति का बैंगलूरु औफिस में तबादला हो गया. नौकरी के कारण मैं साथ नहीं जा सकती थी. पति के जाने के बाद सास और ननद का व्यवहार बिलकुल बदल गया. सुबह घर का काफी काम निबटा कर जाती हूं और लौट कर फिर रसोई में जुटना पड़ता है. कभी किसी ने एक गिलास पानी तक नहीं दिया. इतना ही नहीं, हर काम में दोनों मीनमेख निकालती रहती हैं.

मैं बहुत परेशान हूं. पति 3-4 महीने बाद लौटते हैं. उन्हें गिलेशिकवे बता कर परेशान नहीं करना चाहती. इस वजह से मेरा स्वास्थ्य अब दिनबदिन बिगड़ता जा रहा है. कभी मन करता है कि नौकरी छोड़ दूं और उन के पास चली जाऊं. कृपया उचित सलाह दें?

जवाब
दरअसल, पति से दूरी की वजह से आप को अकेलापन महसूस होता होगा. जिस पर सासननद की बातें आप को नागवार गुजरती होंगी. बहू के साथ सास और ननदभौजाई के रिश्ते में इन बातों से परेशान न हों. यदि आप इन्हें पचा नहीं पा रही हैं और इस का आप के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है तो इस समस्या पर पति के साथ विचार कर सकती हैं. यदि लगता है कि पति अच्छा खातेकमाते हैं तो आप के नौकरी छोड़ने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ेगा. पर जो भी फैसला करें सोचसमझ कर करें.

ये भी पढ़ें- मेरे जीजाजी के मेरी छोटी बहन के साथ गलत संबंध बन गए हैं, मैं क्या करूं?

ये भी पढ़ें- मेरा ब्वायफ्रेंड बहुत फ्लर्टी किस्म का है. हर लड़की को प्रपोज करता है. क्या मेरा उस से शादी करना ठीक रहेगा?

Tags:
COMMENT