सवाल

मैं 50 वर्षीय विधवा हूं और एक सरकारी विभाग में क्लर्क हूं. पति की मौत को अभी एक साल भी नहीं हुआ हेै. मैं उम्र में अपने से 8 साल छोटे अविवाहित व्यक्ति से प्यार करने लगी हूं.  हम दोनों के बीच कई बार शारीरिक संबंध भी बन चुके हैं और मैं उससे शादी भी करना चाहती हूं. ससुराल व मायके वालों से मेरे संबंध औपचारिक हैं. मेरी दो बेटियां क्रमश 21 और 19 साल की हैं बड़ी बेटी शहर में इंजीन्यंरिंग की पढ़ाई कर रही है जबकि छोटी मेरे साथ रहती है .

मेरी एक नहीं बल्कि कई समस्याएं हैं, क्या मेरी बेटियां मेरी दूसरी शादी बर्दाश्त कर सकेंगी.  मेरे अपने पति से संबंध अच्छे नहीं थे क्योंकि वह निकम्मा और शराबी था और उसे लेकर बेटियां भी मेरे पक्ष में रहती थीं. दूसरी समस्या यह है की मैं अपने प्रेमी के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानती हूं  सिवाय इसके कि वह दुनिया में अकेला है और कुछ खास नहीं करता है.  वह छोटा मोटा लेखक है पत्र पत्रिकाओं में अपनी कुछ छपी रचनाएं भी उसने मुझे दिखाई हैं लेकिन छह महीनों में मैंने महसूस किया है कि वह काफी अच्छा इंसान है जो  मेरी भावनाओं की कद्र करता है और  बेटियों का पिता जैसा ही ख्याल रखेगा मुझसे भी वह बहुत प्यार करता है. जाने क्यों कभी कभी मुझे लगता है कि काफी कुछ जल्दबाज़ी मैंने कर दी है मुझे उसके बारे में और जानना चाहिए लेकिन वह कहता है कि जो है वो तुम्हें बता दिया है. अगर शादी करने में कोई हिचक हो तो मत करो मैं तो ज़िंदगी भर तुम्हें प्यार करता रहूंगा कृपया बताएं कि क्या करूं ?

ये भी पढ़ें- मैं अपने ब्वायफ्रेंड से बहुत प्यार करती हूं पर मेरी शादी किसी और लड़के के साथ घरवालों ने तय कर दिया हैं. मैं क्या करूं ?

जवाब

आपने वाकई में जल्दबाजी तो कर दी है. खासतौर से अपने प्रेमी के बारे में बगैर कुछ जाने समझे उससे शारीरिक संबंध बना डाले हैं. किसी के स्वभाव का आकलन इतनी जल्दबाज़ी में करना ठीक नहीं कि वह अच्छा इंसान है.  लगता ऐसा है कि आप अपने आप को तसल्ली दे रही हैं. जबकि अंदर से आप भयभीत हैं जिसकी वजह शारीरिक संबंध ही हैं निश्चित रूप से इनके न सही आपके प्यार के अंतरंग क्षणों के कुछ प्रमाण तो उसके मोबाइल में कैद होंगे.

समस्या को सिलसेवार देखें तो साफ होता है कि आपके पति के साथ आपकी पटरी नहीं बैठी इसलिए आप उसमें भावनात्मक, सामाजिक, आर्थिक या कोई दूसरा सहारा नहीं देख या ले पाई. इसलिए आप एक ऐसे आदमी की तरफ आकर्षित हो गईं.  जिसमें वे एब नहीं हैं जिनसे आप लंबे वक्त से दुखी और परेशान रहीं थीं लेकिन इस बात की कोई गारंटी नहीं कि आपके प्रेमी की  नजर भी आपकी मोटी पगार पर नहीं होगी. मुमकिन यह भी है कि उसने षड्यंत्रपूर्वक तरीके से आपके इर्द गिर्द एक जाल बुना और आप जाने अनजाने में उसमें फंसती चली गईं और अब आपको लग रहा है कहीं आपने गलती तो नहीं कर दी.

आपके मायके व ससुराल में आपका कोई अभिभावक नहीं है यह हर्ज की बात नहीं लेकिन आपको शादी का फैसला अपनी अंतरंग सहेलियों को सारी बात बताकर लेना चाहिए था अगर ऐसा भी आप नहीं कर सकीं तो तय है कि खुद आप किसी से न नहीं सुनना चाहती थीं. एक अहम गलती आप युवा बेटियों को भरोसे में न लेने की भी कर रहीं हैं जरूरी नहीं कि वे आपके फैसले से सहमत हो जाएं. मजबूरी में हां कर दें यह और बात है . याद रखें सौतेला पिता कभी सगा नहीं हो सकता.  बेटियां आपके पति की हैसियत से तो उसे स्वीकार लेंगी पर कभी उसमें पिता शायद ही देख पाएं.

लेखक होना कोई पेशा या पूर्णकालिक रोजगार नहीं है. हां इतना जरूर है कि वे कई ऐसे गुणों के मालिक होते हैं जो आमतौर पर आम लोगों में देखने में नहीं आते लेकिन अब बात को व्यावहारिक नजरिए से देखें तो आप अपने अकेलेपन को भरना चाहती हैं और शरीर की अपनी जरूरत भी स्वीकृत तरीके से पूरी करना चाहती है. ये बातें कतई हर्ज की नहीं बल्कि आपका अधिकार हैं लेकिन उसका तरीका आपने गलत चुना.

ये भी पढ़ें- मेरी स्किन बहुत ड्राई और सांवली है. त्वचा को गोरा और ड्राइनैस को दूर करने के लिए मैं क्या करूं?

अभी कुछ खास नहीं बिगड़ा है अगर आपके मन में उसे लेकर शक है तो उसे पहले दूर करें. फिर बेटियों से मशवरा लें कालेज में पढ़ रहीं लड़कियों को भी खासा अनुभव ज़िदगी और रिश्तों का  होता है. और उन्हें नासमझ भी नहीं माना जा सकता.  बेहतर यह भी होगा कि अपनी आशकाओं से अपने प्रेमी को भी अवगत कराएं. अगर वह सचमुच आपको प्यार करता होगा तो सच बताकर आपको इन दुविधाओं से निकालने में आपकी मदद करेगा .

Tags:
COMMENT