सवाल
मैं 27 वर्षीय विवाहिता के 7 वर्षीय बेटे की मां हूं. मेरे पति व्यवसायी हैं. हमारा काफी संपन्न और संयुक्त परिवार है. परेशानी यह है कि शाम को पति, मेरे जेठ और ससुर इकट्ठे बैठ कर शराब पीते हैं. पति को हर तरह से समझा चुकी हूं कि बच्चा बड़ा हो रहा है, उस के सामने सरेआम शराब पीना ठीक नहीं है. पति नहीं समझ रहे. मैं ने अपने भाई से अपनी चिंता व्यक्त की तो उस का कहना है कि मुझे बेटे को बोर्डिंग में भेज देना चाहिए, क्योंकि घर में पढ़नेलिखने का माहौल नहीं है. पति से पूछा तो उन्हें कोई एतराज नहीं है. पर मैं डरती हूं कि अकेला रह कर बच्चा कहीं निर्मोही न हो जाए. बताएं कि मेरी चिंता वाजिब है या नहीं?

Tags:
COMMENT