‘पार्टी विद अ डिफरैंस’ की बात करने वाली भारतीय जनता पार्टी अब बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी की तर्ज पर रंगों को ले कर राजनीति कर रही है. भाजपा केवल उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि पूरे देश को भगवा रंग में रंगा देखना चाहती है. उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद सरकार के हर काम में भगवा रंग छाया है.

सरकारी प्रचारप्रसार से ले कर सरकारी बिल्डिंग तक के रंग बदलने लगे हैं. मुख्यमंत्री आवास, मुख्यमंत्री सचिवालय, सूचना विभाग की प्रचार सामग्री से ले कर थाने की इमारत के रंग यहां तक कि परिवहन महकमे की बसों के रंग भी बदले गए हैं.

उत्तर प्रदेश में इस से पहले समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने भी पार्टी के रंग में प्रदेश को रंगने का काम किया था. उस समय भाजपा इस बात की बुराई करती थी. अब वह  खुद पार्टी के भगवा रंग में पूरे प्रदेश को रंग रही है तब उस का कहना यह है कि भगवा ऊर्जा का रंग होता है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संत समाज से हैं. वे भगवा कपड़े पहनते हैं. जब वे मुख्यमंत्री बने तो उन के सरकारी आवास को उन के रहनसहन के हिसाब से बनाया जाने लगा. हवनपूजन कर के मुख्यमंत्री आवास ही नहीं, बल्कि उस के सामने की सड़क तक को शुद्ध किया गया. इस के लिए गोरखपुर से खासतौर पर पुजारी बुलाए गए.

योगी आदित्यनाथ संत हैं, ऐसे में यह बात जनता ने स्वीकार कर ली. इस के बाद मुख्यमंत्री सचिवालय और सरकारी बसों के रंग बदले गए. सरकारी प्रचार और दूसरे आयोजनों की कलर स्कीम बदल दी गई. इस के बाद हर सरकारी काम में भगवा रंग का असर पड़ने लगा. जहां भी नया रंगरोगन शुरू हुआ, भगवा रंग छा गया.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT