दिनरात मंदिरों में मूर्तियों के आगे घंटेघडि़याल बजा कर पेट पालने वालों के धंधे पर यदि कोई चोट करता है तो वे तिलमिला कर उस के पीछे पड़ जाते हैं. मशहूर समाजसेवी और आर्यसमाजी स्वामी अग्निवेश को कुछ हिंदूवादियों ने झारखंड के पाकुड़ नामक कसबे में मंदिर के घंटे की तरह ही धुन डाला.

COMMENT