कोरोना ने भारत में दस्तक दी, संक्रमितों की संख्या बढ़ने लगी, मौतों का आंकड़ा ऊपर जाने लगा, मोबाइल फ़ोन, टीवी और रेडियो पर कोरोना से बचाव के उपाय गूंजने लगे, देश में लॉक डाउन लग गया, लोग घरों में दुबक गए, मंत्री-संतरी डर के मारे जनता जनार्दन की नज़रों से ओझल हो गए, तब सिर्फ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी थीं, जिनको कोलकता में बाजार-बाज़ार जाकर लोगों को एक दूसरे से भौतिक दूरी बनाये रखने का तरीका समझाते देखा गया. वह बाजार में पहुचतीं और लोगों के बीच जमीन से ईंट-पत्थर का कोई टुकड़ा उठाकर अपने इर्द-गिर्द एक गोला खींच लेतीं.

Tags:
COMMENT