लेखक- रोहित और शाहनवाज

दिल्ली के सिंघु बौर्डर पर पिछले 1 महीने से सरकार द्वारा कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान डटे हुए हैं. उन का संघर्ष पहले की तुलना में और भी अधिक बड़ा हुआ है. पंजाब के कुछ घरों की छतों से शुरू होने वाले इस आन्दोलन ने अब इतिहास में अपनी जगह बना ली है. इसी के साथसाथ किसानों का यह आन्दोलन देश और दुनिया के लोगों के लिए लम्बे आन्दोलन का बेहतर नमूना बन कर उभरा है, जहां हर कोई कुछ न कुछ काम करता दिखाई देता है. सिंघु बौर्डर पर मौजूद ‘सांझी सत्थ’ उसी बेहतर नमूने का एक उत्तम उदाहरण है.

Tags:
COMMENT