पिछले साल डेंगू मुक्त दिल्ली के लिए सजग रही केजरीवाल सरकार ने अब कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में स्कूलों, कालेजों और सिनेमाघरों को एहतियाती तौर पर 31 मार्च तक बंद रखने की घोषणा की. केवल वे स्कूल और कालेज ही खुले रहेंगे जहां अभी परीक्षाएं जारी हैं. सरकार ने सरकारी, निजी कार्यालयों, शौपिंग मालों सहित सभी सार्वजनिक स्थानों को संक्रमण मुक्त बनाना अनिवार्य कर दिया गया है.

सजगता जरूरी

खतरनाक बुखार डेंगू दिल्ली में हर साल कहर बरपाता रहा है, पर केजरीवाल सरकार ने इस के लिए काफी पहले ही तैयारी की और जागरूकता अभियान चला कर जगहजगह डेंगू मुक्त उपाय किए. परिणामस्वरूप पिछले साल काफी कम मामले ही डेंगू के सामने आए. इस के लिए केजरीवाल सरकार को काफी सराहना भी मिली थी. अब जबकि लगभग पूरे विश्व में कोरोना वायरस महामारी का रूप ले चुका है, दिल्ली सरकार ने समय रहते इस के खतरों को भांपते हुए ऐहतियातन स्कूल, कालेज, सिनेमाघरों आदि को 31 मार्च तक बंद करने का आदेश दिया है. यह फैसला दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल और शीर्ष सरकारी अधिकारियों की उच्च स्तरीय बैठक के बाद किया गया. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (डीयूएसआईबी) के फ्लैटों और निर्माणाधीन अस्पतालों में दिल्ली सरकार पृथक रखे जाने की सुविधाओं का इंतजाम कर रही है.

ये भी पढ़ें- हाय! हाय! हम कहां से लाएं दस्तावेज

अस्पतालों में खास इंतजाम

मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, ''सभी सिनेमाघर 31 मार्च तक बंद रहेंगे. जहां परीक्षाएं जारी हैं उनके अलावा सभी स्कूल और कालेज भी कोरोना वायरस के मद्देनजर 31 मार्च तक बंद रहेंगे. सरकार ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है."

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT