भोपाल लोकसभा सीट भाजपा का कितना बड़ा गढ़ है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है  कि 2014 के लोकसभा चुनाव में अंजान से आलोक संजर भी मोदी लहर पर सवार होकर दिल्ली पहुंच गए थे. तब उन्होने कांग्रेसी दिग्गज पीसी शर्मा को कोई पौने चार लाख वोटों के बड़े अंतर से शिकस्त दी थी. इस चुनाव में लड़ाई पहले की तरह एकतरफा नहीं रह गई है क्योंकि कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर दांव खेला है जिनके सामने भाजपा की तरफ से मालेगांव बम ब्लास्ट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा भारती हैं. इन दोनों की जंग ने भोपाल सीट को देश भर की टौप 5 हौट सीटों में शुमार कर दिया है .

Tags:
COMMENT