उत्तर प्रदेश में भगवा वस्त्रधारी योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाने के पीछे अयोध्या के राममंदिर का मुद्दा है. भाजपा अब सीधे हिन्दुत्व पर भरोसा करने के बजाय प्रतीक के सहारे अपने वोटबैंक को साधना चाहती है. योगी आदित्यनाथ पूरी तरह से धर्मिक चेहरा हैं. ऐसे में भाजपा का कोर वोटर इस बात को लेकर खुश है कि केन्द्र सरकार ने राम मंदिर न सही पर प्रदेश की सत्ता हिदुत्व के अगुवा नेता के हवाले कर दी है. योगी गोरखपुर की गोरक्षा पीठ के मंहत हैं. पूर्वी उत्तर प्रदेश में उनका संगठन हिन्दू युवावाहिनी बहुत सक्रिय है. ऐसे में वह भाजपा के मददगार साबित होते हैं. 5 बार के सांसद योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के 32 वें मुख्यमंत्री हैं. पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो भगवा पहनते हैं और शादीशुदा नहीं हैं.

COMMENT