मध्य प्रदेश के राज्यपाल राम नरेश यादव 8 सितम्बर को विधिवत विदा हो जायेंगे और उनकी जगह कोई नया राज्यपाल आ जाएगा लेकिन राम नरेश मुद्दतों तक याद किये जायेंगे. वजह है उनका चर्चित महाघोटाले ‘व्यापमं’ से हार्दिक लगाव. जिसे कुछ लोग भ्रष्टाचार भी कहते हैं क्योंकि इस में उनकी भागीदारी किसी सबूत की मोहताज नहीं रही. अभी भी वे व्यापमं घोटाले से पूरी तरह बरी नहीं हुए हैं.

COMMENT