शर्मीले इंसान को समझना थोड़ा मुश्किल होता है. ऐसे इंसान से बात करने से पहले ज्यादा सोचने की जरूरत होती है क्योंकि ऐसे में समझ नहीं आता है कि उनसे क्या बात की जाए. शांत और शर्मीले इंसान के मन की बात को पता लगाना बहुत मुश्किल होता है. इसलिए उनसे बात करते वक्त बहुत सी बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है.

आइए जानते हैं कौन सी ऐसी बातें होती हैं जिनका ध्यान रखना जरूरी है.

आंखों में देखकर बात करो – शर्मीले लोग आंखों में देखकर बात नहीं करते हैं. अगर आपको ऐसा लग रहा है कि आप जिस इंसान से बात करने कि कोशिश कर रहें हैं वह आपकी आंखों में देखकर बात नहीं कर पा रहा है, तो आपको उन्हें इस बात को अकेले में उसे समझाना चाहिए. ऐसे में  किसी इंसान को बुरा महसूस कराने के बजाय आपको इनसे बात करनी चाहिए, शायद आपको वह अपने इस झिझक की वजह बता पाएं.

आप बहुत शांत हैं – किसी भी शर्मीले इंसान को ये बात नहीं बोलनी चाहिए कि वह बहुत शांत है. ऐसे लोगों के पास बोलने को बहुत कुछ होता है, लेकिन वे सही समय का इंतजार करते हैं. एक शर्मिला व्यक्ति उस किताब की तरह होता है जो कई पन्ने खुलने के बाद दिलचस्प होता जाता है.

तेज क्यों नहीं बोलते –  शर्मीले इंसान को अगर आप यह बात बोलते हैं कि वह जोर से क्यों नहीं बोलते तो वह खुद के प्रति अधिक सचेत हो जाते हैं. इसलिए जब तक आप इस बात को लेकर निश्चित नहीं हो जाते कि सामने वाला क्या बोल रहा है,  तब तक आपको उन्हें कोई ऐसी बात या सुझाव नहीं देनी चाहिए जो उनके व्यवहार के अनुकूल हो.

आप मिलनसार नहीं हैं – शर्मीले लोग भी सामाजिक होना चाहते हैं और लोगों से बात करना चाहते हैं, लेकिन इसकी शुरूआत कैसे करें उन्हें पता नहीं चल पाता है. अगर आपको लगता है कि आप किसी ऐसे इंसान को जानते हैं जो ऐसी किसी परेशानी से जूझ रहा हो, तो आपको उनसे अकेले में बात करने की जरूरत है. आपको उन्हें इस बात का एहसास नहीं दिलाना चाहिए कि वह मिलनसार नहीं हैं या उन्हें लोगों से बात करने में दिलचस्पी नहीं है.

Tags:
COMMENT