फिल्म इंगलिशविंगलिश में श्रीदेवी (शशि) ने एक समर्पित मां का किरदार निभाया है. वे अपने बच्चों से आदर और सम्मान की अपेक्षा रखती हैं. लेकिन उन के बच्चे उन के साथ बेहद रूखा व्यवहार करते हैं. बच्चे बातबात पर मां का मजाक बनाते हैं क्योंकि उन्हें अंगरेजी बोलनी नहीं आती. जब वे ‘जैज’ डांस फौर्म को ‘जहाज’ कहती हैं तो बच्चे उन का मजाक बनाते हैं. इस फिल्म द्वारा उन विद्रोही बच्चों पर अच्छा कटाक्ष किया गया है जो अंगरेजी जानने व टैक्नोसेवी होने के नाम पर स्वयं को सुपर समझते हैं और मांबाप की इज्जत नहीं करते.

आजकल के बच्चे

पता नहीं क्या हो गया है आजकल के बच्चों को, मांबाप की इज्जत करना तो जैसे वे भूल ही गए हैं. हर समय फोन पर, फेसबुक पर लगे रहना, दोस्तों को ही सबकुछ समझना, उन से ही हर बात शेयर करना, कुछ भी पूछो तो पहले तो जवाब ही नहीं देते और अगर दिया भी तो सिर्फ हां या ना में, और अगर कुछ और ज्यादा पूछ लिया तो जवाब मिलता है, ‘आप को क्या मतलब’, ‘जब आप को कुछ पता नहीं तो बोलते ही क्यों हो,’ बातबात पर चीखनाचिल्लाना, गुस्सा करना, गलत भाषा का प्रयोग करना उन के व्यवहार में शामिल हो गया है. रिश्तों का सम्मान और मानमर्यादा जैसे शब्द तो मानो उन की डिक्शनरी में हैं ही नहीं. हाल ही में अमेरिका में हुई एक रिसर्च में भी पाया गया कि पिछले 30-40 वर्षों की अपेक्षा आज के बच्चे अधिक उपद्रवी हो गए हैं.

ये भी पढ़ें- स्क्रीन के गुलाम बच्चे

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT