1998 में अरबाज खान से शादी कर 2017 में तलाक लेने वाली 45 वर्षीया बौलीवुड एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा अपने से 12 साल छोटे अर्जुन कपूर के साथ रिलेशनशिप में हैं. वे पब्लिकली नजर आने लगे हैं. इन की शादी की खबरें भी उड़ने लगी हैं. दोनों के डिनर डेट की तस्वीरें वायरल हो रही हैं,  तो वहीं 42  वर्षीय सुष्मिता सेन पिछले कुछ दिनों से अचानक अपने अफेयर को लेकर फिर से चर्चा में है. इस बार वह खुद से 15 साल छोटे रोहमन शौल के साथ रिलेशनशिप को ले कर खबरों में है. पिछले दिनों दोनों कई पार्टियों में साथ नजर आए.  खबरों में यह भी है कि रोहमन ने सुष्मिता को कुछ हफ्ते पहले ही शादी के लिए प्रपोज किया. दोनों करीब 2 माह पहले एक फैशन इवेंट में मिले थे और एक दूसरे को डेट कर रहे हैं.

प्रियंका चोपड़ा भी पिछले दिनों न्यूयौर्क में प्री ब्राइडल सेरेमनी के बाद अपनी गर्लगैंग के साथ बैचलर पार्टी के लिए एमस्टरडम रवाना हुई. अपने से 11 साल छोटे निक जौन के साथ जल्द ही शादी के बंधन में बनने वाली हैं. शादी की तैयारियां भी जोरों पर हैं.

कुछ समय पहले अपने से 7 साल  छोटे हर्ष से शादी कर लेडी कौमेडियन भारती ने भी सब को अचरज में डाल दिया था. इस से पहल 41  साल की उम्र में प्रीति जिंटा ने अपने से 10 साल छोटे फाइनेंशियल एनालिस्ट जौन गुडनइफ से शादी कर ली तो उर्मिला मातोंडकर ने भी 9 साल छोटे मोहसिन से शादी कर सब को हैरत में डाल दिया.

जाहिर है कि शिक्षा, नौकरी और आत्मनिर्भरता के बाद अब महिलाएं रिलेशनशिप और शादी को ले कर भी ओपन हो रही हैं.  पहले जब औरतें घर से बाहर नहीं निकलती थी तब उन्हें आदमी के पैर की जूती माना जाता था. उन के पास कोई अधिकार नहीं था. पति की बात मानना, उस के अनुसार खुद को ढालना और पति जब कहे समर्पण के लिए तैयार रहना, यही आदर्श पत्नी की विशेषताएं थी. मगर अब माहौल बदल रहा है. ट्रेंड  चेंज हो रहा है. आज औरतें पढ़लिख कर आगे बढ़ रही हैं. काबिल बन रही हैं. भरपूर नाम, पैसा और रुतबा हासिल कर रही हैं. ऐसे में पति का डोमिनेंस क्यों सहें?

इस संदर्भ में मनोवैज्ञानिक और सोशल एक्टिविस्ट अनुजा कपूर कहती हैं कि यदि पुरुष कम उम्र की लड़की से शादी कर सकता है, 15 साल की लड़की 45 साल के अधेड़ की बीवी बन सकती है, तो स्त्रियां खुद से छोटे लड़कों को पति क्यों नहीं बना सकती? आज स्त्रियां सक्सेसफुल हैं. आत्मनिर्भर हैं. उन्हें अपने हक और कानून मालूम हैं. वे आदमी के बिना भी रह सकती हैं. क्यों क वह घर का काम भी आराम से कर सकती है और बाहर भी सक्षम है.  उन के जीवन में पुरुष की अहमियत उतनी नहीं रही.

पहले औरतों की शादी अधिक उम्र के व्यक्ति से की जाती थी ताकि वह पति के नियंत्रण में रहे. उस की हर आज्ञा का पालन करें. अधिक उम्र के पुरुषों के पास पैसा,  अनुभव और रुतबा, सब कुछ होता था. आज महिलाएं खुद ही इतनी काबिल, शिक्षित और कमाऊ  है तो किसी का रोब क्यों सहे? वह अपने से कम उम्र के पुरुष से शादी कर उसे डोमिनेट कर के रख सकती है.  इसे एकदम से गलत नहीं माना जा सकता.  जो ज्यादा काबिल और रुतबेदार होगा वही दूसरे को डोमिनेट करेगा. यही समाज का नियम है.

पुरुष क्यों करते हैं अपने से अधिक उम्र की लड़की या महिला से शादी

1 . अधिक समझदार और अनुभवी

बड़ी उम्र की दुल्हन स्वभाव से परिपक्व और गंभीर होती है.  उन के साथ रिलेशनशिप में कम उम्र वाले ड्रामों  और बचपने की गुंजाइश नहीं रहती बल्कि म्युचुअल बौडिंग, इंटेलिजेंस और अंडरस्टैंडिंग कायम रहती है. उसे हर मामले में अधिक अनुभव रहते हैं.

  1. वित्तीय आत्मनिर्भरता

बड़ी उम्र की वेल सेटल्ड वाइफ आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होती है. अपने पति के कैरियर को आगे बढ़ाने में और सेटल  होने में भी मददगार रहती है. वह हर मामले में बेहतर गाइडेंस दे सकती है और अपने संपर्कों से पति को फायदे पहुंचा सकती है. जो  कम उम्र की ऐसी  हाउस वाइफ से बहुत बेहतर है जो पैसों की अहमियत नहीं समझती, बेमतलब के खर्चे करने की आदी  होती है और पूरी तरह पति पर निर्भर होती है.

  1. अधिक धैर्य और परवाह करने वाली

बड़ी उम्र की बीवी कम डिमांडिग और अधिक केयरिंग होती है.  वह पूरा अफेक्शन देना जानती है. बदले में केवल एक्ससेप्टेशन मांगती है. फिल्म ‘ए दिल है मुश्किल’ में ऐश्वर्या का कैरेक्टर कुछ ऐसा ही था. वह रणबीर कपूर के साथ ऐसे ही एक रिश्ते में थी जहां वह फेमस शायर थी तो वहीं रणवीर टौय ब्वॉय की तरह उस के साथ जुड़ा था.

जहां तक बात साथ  जीवन जीने की है तो क्या ऐसे रिश्ते कामयाब होते हैं? क्या हेल्थ और सेक्सुअल कंपैटिबिलिटी के ख्याल से समस्याएं आ सकती हैं ?

इस संदर्भ में सेक्सुअलिटी पर काफी काम कर चुके अल्फ्रेड विनसे के मुताबिक पुरुषों में सेक्सुअल हार्मोन 18 साल की उम्र में पीक  पर होते हैं जब कि महिलाओं में यह 30 के बाद का समय होता है. हैल्थ की दृष्टि से भी महिलाएं 5 साल अधिक जीती हैं. ऐसा होने की वजह लाइफस्टाइल या बायोलौजी नहीं. 1 विधुर के अनुपात में उसी उम्र की 4 विधवाएं जिंदा रहती हैं. यानी अपने से अधिक उम्र की लड़की के साथ शादी करने वाले पुरुष पत्नी के साथ ही बूढ़े होते हैं. वैसे भी प्यार में उम्र का अंतर मायने नहीं रखता. जिंदगी किस के साथ और किस तरह बीती यह महत्वपूर्ण होता है.

Tags:
COMMENT