कोरोना संक्रमण और लौकडाउन की वजहों से इन दिनों देश व समाज में काफी कुछ बदलबदला सा है. महीनों से घर में रह रहे बच्चे अब जहां उकता चुके हैं, वहीं पेरैंट्स उन्हें संभालने की जद्दोजेहद में हैरान और परेशान हो रहे हैं.

घर में 24 घंटे बच्चों के रहने से जहां उन्हें पर्सनल स्पेस नहीं मिल पा रहा, वहीं उन की औनलाइन क्लासेज के चलते अभिभावकों की जेबों पर खर्च की दोहरी मार लग रही है.

Tags:
COMMENT