मां और बेटी का रिश्ता बेहद अंतरंग व अनोखा होता है. लेकिन, बेटी की चिंता के चलते मां का उस के शादीशुदा जीवन में दखल देना अकसर कई मुसीबतें खड़ी कर देता है.

मांबेटी का रिश्ता बेहद प्यारा होता है. हर मां अपनी बेटी के विवाह के सपने देखती है. हर मां चाहती है कि उस की बेटी शादी के बाद अपनी ससुराल में हर तरह से सुखी रहे. मातापिता इसी उम्मीद से अपनी बेटी का विवाह करते हैं और आशीष देते हैं कि वह हमेशा खुश रहे. लेकिन, कई बार कुछ ज्यादा खुशी देने के चक्कर में बात बिगड़ भी सकती है. कुछ मांएं इस आशा में कि उन की बेटी को वह सब मिले जिस की वह हकदार है, शादीशुदा बेटी की गृहस्थी में हस्तक्षेप करने लगती हैं.

Tags:
COMMENT