आखिर दिल बच्चा ही तो है प्यार कोई फौर्मैलिटी नहीं है जिसे उम्र देख कर ही किया जाए. जिस से जब दिल के तार जुड़ने हों जुड़ जाते हैं और न जुड़ें तो बेमतलब रिश्ते में आखिर क्यों बंधा जाए? उम्र की बंदिशें तोड़ता प्यार शौकिया नहीं बल्कि परिपक्व सोच की निशानी होता है.

Tags:
COMMENT