हमेशा से समाज में शादी कर घर बसाने को युवाओं की जिम्मेदारी और जरुरत के रूप में देखा जाता रहा है. खास कर जो लड़कियां शादी नहीं करतीं उन्हें अजीब रिएक्शन दिए जाते हैं. लोग उन्हें डराना शुरू कर देते हैं कि आने वाले वक्त में तुम्हे अपने फैसले पर अफसोस होगा. मगर देखा जाए तो आज के समय में शादी उतना अनिवार्य नहीं जितना पहले था. आज लड़कियां अपने पैरों पर खड़ी हैं और खुद अपना ख्याल रख सकती हैं. आज उन्हें किसी सहारे की जरुरत नहीं.

Tags:
COMMENT