अधिकतर लोगों को सुबह जागते ही गर्म चाय पीने की आदत होती है. ये चाय उन्हें फ्रेश करने का काम करती है. पहले भी कई शोधों में ये बात सामने आ चुकी है कि चाय के प्रयोग से सेहत का काफी नुकसान होता है. इसमें पाए जाने वाली कैफीन से बहुत सी बीमारियां हो सकती हैं. ऐसे में हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम चाय के अत्यधिक प्रयोग से बचें. इन सब के बीच चाय से होने वाले स्वास्थ नुकसान पर एक और खबर सामने आई है जो चाय के प्रेमियों को उदास कर सकती है.

हाल में सामने आई एक स्टडी की रिपोर्ट की माने तो गर्म चाय पीने से एसोफैगल कैंसर होने का खतरा अधिक हो जाता है. यह स्टडी इंटरनेशनल जर्नल औफ कैंसर में प्रकाशित हुई है. रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि जो लोग 75 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक गर्म चाय पीते हैं, उन्हें दूसरों के मुकाबले एसोफैगल कैंसर होने का खतरा दुगना होता है.

hot tea causes esophageal cancer

आपको बता दें कि इस शोध में 40 से 75 साल के करीब 50 हजार लोगों को शामिल किया गया. स्टडी के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया प्रतिदिन 700 मिलीलीटर तेज गर्म चाय पीने से एसोफैगल कैंसर होने का खतरा 90 फीसदी तक बढ़ सकता है. शोधकर्ताओं ने बताया कि चाय के अलावा ग्रम कौफी, हौट चौकलेट और दूसरी गर्म चीजों का सेवन भी सेहत के लिए हानिकारक होता है.

जानकारों ने आगे से भी बताया कि एसोफेगल कैंसर से बचने के लिए ये जरूरी नहीं कि आप चाय पीना ही छोड़ दें. बल्कि इसे बिल्कुल गर्म स्थिति में ना पिएं. चाय के ठंडा होने का इंतजार करें. ऐसी छोटी सावधानियों से आप कैंसर के खतरे से बच सकते हैं.

Tags:
COMMENT