स्ट्रेच मार्क्स का सबसे बड़ा कारण है स्किन का ओवर स्ट्रेच हो जाना. ये अक्सर प्रेग्नेंसी, बौडी बिल्डिंग, एक्स्ट्रा वेट गेन और कभी – कभार उम्र बढ़ने के साथ भी आ जाते हैं. हालांकि इनसे निजात पाया जा सकता है, लेकिन इसके लिए कुछ बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है. अगर आप भी स्ट्रेच मार्क्स से परेशान हैं और बाजार में मिलने वाली क्रीम को लगालगा कर थक चुकी हैं तो यहां जानें स्ट्रेच मार्क्स के कारण और उससे छुटकारा पाने के कुछ घरेलु उपाए.

कारण

जब कोई महिला गर्भवती होती है या कोई इंसान अचानक मोटा होता है तो हमारी त्‍वचा में भी खिंचाव आने लगता है. ऐसे में त्‍वचा की बाहरी सतह तो खिंच जाती है, लेकिन आंतरिक त्‍वचा इस खिंचाव को लंबे समय तक सह नहीं पाती और इसके अंदर का टिशू टूटता चला जाता है, जिससे त्‍वचा में स्‍ट्रेच मार्क बनते जाता है.

क्या है उपाय

तेल से मालिश करें

एवोकैडो के तेल की कुछ बूंद के साथ जोजोबा, जैतून और बादाम के तेल के साथ छह बूंदें कैमोमाइल तेल की और आठ बूंदें लैवेंडर तेल की मिला ले और इसे लगाये या फिर 4 बड़े चम्मच वर्जिन आयल के साथ चार बड़े चम्मच एलोवेरा और दो चम्मच चीनी को मिलाले और इस मिश्रण को अच्छी तरह मिला लें और इसे रोज नहाने या सोने से पहले लगाये. यह आपकी स्किन के ब्लड सर्क्यलेशन को अच्छा करता है और त्वचा में नमी लाता है

नारियल तेल

कोका बटर को मिश्रित करके इसमें नारियल के तेल को मिलाकार अवन में तब तक रखें जब तक यह पिघल न जाए. इसे अच्छी तरह से घुमाएं और फिर ठंडा होने दें. इसके बाद इस ठंडे मिश्रण को छाती, भुजाओं, हिप्स, टमी और प्रभावित अन्य अंगों पर लगाकर इससे मसाज करें.

फैटी एसिड्स

फैटी एसिड्स को भी अपनी डाइट में जरूर रखें, क्योंकि ये स्ट्रेच मार्क्स को आने से रोकते हैं. वैसे, अगर आप रोजाना के खाने में फैटी एसिड्स, सनफ्लावर और पम्पकिन सीड्स लें, तो स्ट्रेच मार्क्स को काफी हद तक कम कर सकती हैं.

गेनिस्‍टीन

गेनिस्‍टीन ज्यादातर टोफू, सोया दूध, सोया सेम और अन्य सोया उत्पादों में पाया जाता है. जो शरीर में कोलेजन के उत्पादन को बढ़ता है. यह त्वचा के एन्जाइम को ठीक करके वापस पहले जैसा कर देता है.

हरी पत्तेदार सब्जी खाएं

हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, सरसों, भिंडी, अजवाइन, सलाद, हरी बीन्स, जैतून कीवी, कच्ची शलजम, अस्पेरगस और ऐवकाडो आदि को आपने आहार में शामिल करे क्यों की यहाँ त्वचा को हाइड्रेट करता है साथ ही झुर्रियां और खिंचाव के निशान को भी काम करती हैं.

विटामिन से भरपूर आहार ले

स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के और भी कई तरीके हैं. इनमें हेल्दी डाइट भी शामिल हैं. दरअसल, स्किन के सौफ्ट रहने से स्ट्रेच मार्क्स आसानी से डेवलप नहीं हो पाते. साथ ही, कैफीन लेना अवाइड करें, क्योंकि इससे स्ट्रेच मार्क्स बढ़ते हैं. स्ट्रेच मार्क्स होने का एक बड़ा कारण सही डाइट न लेना भी है. इसके लिए अपनी डाइट में जिंक, प्रोटीन, विटामिन ए, सी और ई शामिल करें.

पानी

त्वचा में होने वाली विकृति से निपटने के सबसे आसान तरीकों में एक है पानी. पानी हमारी त्वचा को हाइड्रेटेड और स्वस्थ रखता हैं. यह हमारी त्वचा को नमी देता है और लचीला बनाता हैं. यह त्वचा को ड्राई नहीं होने देता है. अत: गर्भावस्था के दौरान कम से कम आठ से दस गिलास पानी पीना चाहिए.

Tags:
COMMENT