‘‘आप कैसे हैं अंकल?’’ निलय ने अपने 71 साल के पड़ोसी अंकल से पूछा.
‘‘खुश हूं बेटा,’’ वे मुसकराते हुए बोले. ‘‘क्या बात है अंकल, लोग खुशी को तरसते हैं और आप खुश हैं, कैसे? मतलब अंकल, हम तो कभी किसी से कह ही नहीं पाते कि हम खुश हैं. हर समय कुछ न कुछ परेशानी लगी ही रहती है. आप इस उम्र में भी खुश हैं तो इस का राज तो बताना ही होगा अंकल,’’ निलय ने अंकल की तरफ गौर से देखते हुए पूछा.

Tags:
COMMENT