विश्व की दो उभरती महाशक्तियों में शुमार किए जाने वाले भारत और चीन कमोबेश एक जैसे हालात से गुजर रहे हैं. चीन भी भ्रष्टाचार की जबरदस्त गिरफ्त में है. अमीरगरीब के बीच खाई गहरी होती जा रही है. ऐसे में चीन के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति शी जिनपिंग के लिए आने वाला समय चुनौतियों से भरा होगा. साथ ही भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों की दृष्टि से भी उन की भूमिका अहम होगी. जायजा ले रहे हैं जितेंद्र कुमार मित्तल.

COMMENT