जब बच्चों के दांत निकलते है तो वह बहुत परेशान हो जाते है. कई बार मां को भी दांत निकलते समय क्या करे इसका पता नही होता इस कारण वह परेषान हो जाती है. इससे बचने के लिये जरूरी है कि बच्चों के दांत निकलने की पूरी जानकारी होनी चाहिये. डंेटल स्पेशलिस्ट डाक्टर मृणालिनी षाही कहती है ‘आम तौर पर शिशुओं के दांत 6 माह की उम्र में निकलना शुरू होते है. 3 से 4 माह या 1 साल की उम्र में भी दांत निकलने को सामान्य माना जाता है. दांत निकलने से पहले शिशु के मसूढों में भीतर ही भीतर बढते है. इससे शिशुओं में परेशानी हो सकती है.दांत निकलने के समय शिशु लार टपकाने लगता है. इस समय वह हर चीज को चबाने की कोशिश करता है. दांत निकलने के समय शिशु कुछ चिडचिडा हो जाता है. अगर कुछ सावधनियां बरती जाये तो इन मुश्किलों से बचा जा सकता है.‘

लखनऊ की रहने वाली डाक्टर मृणालिनी षाही ने बच्चों के दांत की परेषनियों पर विषेष अध्ययन किया है. उनका कहना है बचपन से दांतों की सही देखभाल होने से बुढापे तक यह दांत सही तरह से साथ देते है.

ये भी पढ़ें-लॉकडाउन के बाद रैस्टोरैंट्स का हाल 

1      शिशु के मसूढों को अपनी छोटी उंगली साफ करके हल्के हल्के रगडे.

2      बच्चे को चबाने के लिये कुछ ठोस चीज जैसे कच्ची गाजर, रस्क का टुकडा या फिर टीथिंग रिंग दे.

3      बच्चे को पीने की चीजे कप में दे. क्योकि चूसने में बच्चें को दर्द हो सकता है.

4      दांत  निकलने के समय बच्चे को ठंडी हवा में न घुमाये. इससे दांत निकलने का दर्द और बढ जाता है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT