शाम के 7 बजे थे. 45 वर्षीय वर्षा को एक ओर घर जाने की जल्दी थी तो दूसरी ओर बौस को रिपोर्ट भी देनी थी. वह एक निजी कंपनी में बतौर मार्केटिंग मैनेजर काम करती थी. उस ने जल्दी से सारी रिपोर्ट पर एक उड़ती नजर डाली और फटाफट बौस के चैंबर में जा कर रिपोर्ट पेश की. रिपोर्ट को देखते ही बौस गरज उठे. रिपोर्ट में कई सारी गलतियां थीं. वर्षा को डांटते हुए उन्होंने कहा कि आजकल कुछ समय से उस के काम में कुछ न कुछ गलती नजर आती है. कहीं उस की याददाश्त तो कम नहीं हो गई? उसे बादाम खाने चाहिए जैसे व्यंग्य भी किए.

Tags:
COMMENT