भारत की अर्थव्यवस्था में पशुपालन का खास योगदान रहा है. विश्व में भारत दूध उत्पादन के मामले में पहले नंबर पर है. हरियाणा प्रदेश की सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था में पशुधन का स्थान प्रमुख रहा है. हरियाणा में 60 से 65 फीसदी लोग खेती के साथसाथ पशुपालन का व्यवसाय भी करते हैं. सरकार की अनेक योजनाएं किसानों और पशुपालकों के लिए आती रहती हैं, जिन में उम्दा किस्म के पशु तैयार करना, डेरी लगाना, सुअरपालन, भेड़बकरीपालन जैसी योजनाएं शामिल हैं.

Tags:
COMMENT