उड़द जायद व खरीफ की खास फसल है. वैज्ञानिक तौरतरीके अपना कर इस की अच्छी पैदावार ली जा सकती है. उड़द की खेती के लिए अच्छे पानी निकास वाले बलुई दोमट मिट्टी वाले खेत ज्यादा ठीक रहते हैं. लवणीय, क्षारीय या ज्यादा अम्लीय मिट्टी उड़द के लिए अच्छी नहीं मानी जाती है. सही नमी बनाए रखने के लिए पहली जुताई मिट्टी पलटने वाले हल से करने के बाद 2-3 जुताई देशी हल या हैरो से कर के अच्छी तरह से पाटा लगा कर खेत को समतल करना चाहिए.

Tags:
COMMENT