‘‘दो पाटन के बीच में साबुत बचा न कोय,’’ जी हां, यही हाल होता है पतिपत्नी के बीच में पड़ने वालों का. लेकिन किसी न किसी को तो दोनों की लड़ाई में बीचबचाव करना ही पड़ता है. पति चाहता है कि दोस्त पत्नी का साथ देने के बजाय उस का साथ दे, वहीं पत्नी भी यही चाहती है कि कम से कम दोस्त की पत्नी तो उस की तरफदारी करे.

COMMENT