शाम को मानसी बस स्टॉप पर रुककर अपनेभाई का इंतजार कर रही थी तभी उसे कुछ ऐसा एहसास हुआ था.
'सरिता' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now