बिहार चुनावी नतीजे के माने

बिहार चुनाव में पटखनी खाई भाजपा और जीते महागठबंधन के भावी संकेत क्या हैं?

December 5, 2015

फरवरी 2015 में दिल्ली में करारी हार के बाद लगा था कि दिल्ली की जनता से कहीं अनजाने में गलती हुई है कि उस ने सदियों बाद फिर विशुद्ध हिंदू सरकार को एक छोटे से राज्य में उसे इस बुरी तरह हराया कि भारी भीड़ वाली पार्टी पालकी वाली पार्टी बन कर रह गईं. उस के बाद कई और बार कलई खुली कि मई 2014 में हुए आम चुनावों में जो भारीभरकम प्रचार, देशीविदेशी पैसे, ऊंची जातियों वालों की एकजुट आक्रमणता, कांगे्रस के दिमागी दिवालिएपन से भाजपा को जीत मिली थी वह जनता से अनजाने में हुई गलती के कारण थी. बाद के चुनावों में कहीं नाममात्र का बहुमत पाने या कहीं विरोधी पक्ष न होने पर जो विजय भाजपा को मिल रही थीं वे पेशवाई जीतें थीं, शत्रुओं में फूट डाल कर पाई गई थीं.

Tags:
COMMENT

बिहार चुनावी जंग मुख्य प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश

नीतीश कुमार से टक्कर लेने को पीएम ने पहना सीएम का चोला.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के डीएनए को खराब बता कर नीतीश कुमार पर सीधा और बड़ा ही तीखा हमला बोला था और उन्हें सीधी लड़ाई की चुनौती दी थी. पिछले कई सालों से दोनों नेताओं के बीच छिपछिप कर एकदूसरे पर वार करने का हथकंडा अब खुल कर सामने आ चुका है. बिहार विधानसभा चुनाव में प्रदेश भाजपा के तमाम बड़े नेताओं को दरकिनार कर नरेंद्र मोदी खुद नीतीश कुमार के साथ दोदो हाथ कर रहे हैं. किसी राज्य के मुख्यमंत्री बनने के लिए किसी प्रधानमंत्री की ऐसी बेचैनी शायद ही कभी देखने को मिली हो. मोदी बिहार जीतने के लिए साम, दाम, दंड, भेद का इस्तेमाल कर रहे हैं और तिलमिलाए नीतीश अपने धुरविरोधी लालू प्रसाद यादव से हाथ मिला कर मोदी को तगड़ी चुनौती दे रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश को हराने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार में ‘मुख्यमंत्री’ का चोला सा पहन लिया है. नीतीश को सब से ज्यादा तिलमिलाने का काम नरेंद्र मोदी ने बिहार को 165 करोड़ रुपए के स्पैशल पैकेज देने का ऐलान कर किया है. नीतीश 6-7 सालों से बिहार को स्पैशल राज्य का दरजा देने की सियासी लड़ाई लड़ रहे हैं. मोदी ने बिहार को स्पैशल राज्य का दरजा तो नहीं दिया, बल्कि अलग से स्पैशल पैकेज देने का ऐलान कर नीतीश की सियासत पर पानी फेरने की कोशिश की है. नीतीश बिहार की जनता के सामने यह रट लगाते रहे हैं कि जब तक बिहार को स्पैशल राज्य का दरजा नहीं मिलेगा तब तक बिहार की तरक्की नहीं हो सकती है.

Tags:
COMMENT
'सरिता' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now