राजधानी की सड़कों पर खूबसूरत, फर्राटेदार अंगरेजी बोलती लड़की राह चलते टकरा जाए, लिफ्ट मांगे और फिर दोस्ती बढ़ाए, तो जरा सावधान हो जाइएगा. आप किसी गहरी मुसीबत में फंस सकते हैं और मुसीबत में घिरने के बाद वहां 2-4 वरदीधारी को देख कर यह मुगालता तो कतई न पालिएगा कि आप बालबाल बच जाएंगे. एक ऐसी ही सनसनीखेज वारदात राजधानी दिल्ली में घटी, जब रोहिणी में हुस्न का जाल बिछा कर एक बिजनैसमेन को ब्लैकमेल करने के आरोप में दिल्ली पुलिस के एक सब इंस्पैक्टर समेत 4 लोगों को हिरासत में लिया.

हनी ट्रैप

दरअसल, यह एक वरदीधारी गुंडों की फौज थी जो हनी ट्रैप में मोटे आसामी को जाल में फंसाती थी. जो शिकार हो जाता उसे फ्लैट पर ले जाते फिर लड़की के साथ उस की चोरीछिपे वीडियो बनाते और बाद में रुपयों की मांग कर ब्लैकमेल करते. जाहिर है, इन के जाल में भी वही लोग फंसे होंगे जिन्हें बाहर मुंह मारने की आदत होती है और जिन्हें 'घर की मुरगी दाल बराबर' कहने समझने की आदत रहती होगी.

खुद ही फंस गए

हनी ट्रैप में फंसाने वाले इन उस्तादों की कारस्तानी शायद ही रुकती अगर रानी बाग इलाके के एक करोबारी सोलंकी ने पुलिस की मदद न मांगी होती. सोलंकी ने अपने साथ हुए घटना की पूरी आपबीती पुलिस को बताई. पुलिस ने जांच के बाद इन चारों को धर दबोचा. पकड़े गए आरोपियों में दिल्ली पुलिस के सब इंस्पैक्टर सुभाष के साथ साथ अमित, ललित व टिंकू शामिल हैं.

सावधानी हटी दुर्घटना घटी

मामला पुलिस से जुड़ा है लिहाजा पुलिस के अधिकारी चुप ही रहेंगे. मगर इस बात का खुलासा जांज रिपोर्ट आने के बाद ही होगा कि इन के जाल में कितने आसामी फंसे होंगे.

आप खुद भी सतर्क रहें और निम्न बातों का ध्यान जरूर रखें-

* घर से बाहर निकलें तो दिल दिमाग काबू में रखें.

* किसी अनजान को अपना फोन नंबर न दें.

* अनजान बुलावे पर गए तो  फंसेंगे ही.

* मुसीबत में भगवान का नाम न लेकर 100 नंबर पर फोन करें.

COMMENT