"कोरोना वायरस" के संक्रमण से जनता को बचाने के लिए सरकार ने बड़े बड़े दावे किए. सच्चाई यह है कि गरीब वर्ग इस "लॉक डाउन" के समय सबसे अधिक परेशान हो रहा है. खाने पीने की कमी और परदेश में असुरक्षा की भावना के चलते वो बड़े शहरों से अपने गांव घर की तरफ पैदल ही पलायन करने लगी. सड़को पर देश की आजादी के समय बंटवारे की त्रासदी सा दृश्य दिखने लगा.

Tags:
COMMENT