एक ओर किसान गेहूं फसल कटाई में पूरी तरह जुट गया है, वहीं सरकार के कृषि मंत्रालय ने किसानों के लिए 'किसान रथ' ऐप शुरू कर उन की भलाई में मददगार बन उभरने के प्रयास में है.

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने 'कृषि रथ' मोबाइल ऐप शुरू किया, ताकि किसान कोविड-19 के कारण जारी लॉकडाउन के दौरान अपना माल घर या मंडियों तक आसानी से पहुंचा सकें.

इस के लिए अनाज का ब्यौरा इस ऐप पर डालना होगा. साथ ही, किसानों को माल की मात्रा का ब्यौरा भी देना होगा. इस के बाद परिवहन सुविधाएं मुहैया कराने वाली नेटवर्क कंपनी किसानों को उस माल को पहुंचाने के लिए ट्रक और किराए का ब्यौरा देगी.

ये भी पढ़ें-#lockdown: अखिल भारतीय कृषि परिवहन कॉल सेंटर शुरू हुआ

इस बात की तसदीक हो जाने के बाद ही किसानों को ऐप पर ट्रांसपोर्टरों का ब्यौरा मिलेगा. उस ब्यौरा में ट्रांसपोर्टरों का फोन नंबर भी होगा. किसान उन ट्रांसपोर्टरों से बात कर उपज को मंडी तक पहुंचाने के लिए सौदेबाजी कर सकेंगे और अंतिम रूप दे सकेंगे.

कृषि मंत्रालय ने यह भी जानकारी दी कि किसान द्वारा दर्ज ढुलाई के माल की मात्रा व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों दोनों को दिखाई देगा. कारोबारियों को अपने क्षेत्रों में बिक्री के लिए उपलब्ध कृषि उपज का पता चल जाएगा और वे विभिन्न किसानों के द्वारा भेजे जा सकने वाले कृषि वस्तुओं को जुटा कर उसे खेत से उठाने के लिए ट्रक की व्यवस्था कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें-मौसम का बिगड़ता मिजाज, किसानों का न कल बचा न आज

कृषि मंत्रालय ने यह भी बताया कि 5 ऑनलाइन ट्रक बुकिंग कंपनियों ने साढ़े लाख से ज्यादा ट्रकों को इस ऐप पर सूचीबद्ध किया है . नई प्रणाली से किसानों, ट्रांसपोर्टरों और एग्रीगेटर्स और सरकार सब के लिए लाभ होने की उम्मीद है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT