आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के चेयरमैन और नदवा कॉलेज के प्रमुख मौलाना राबे हसनी नदवा ने नदवा कॉलेज में छात्रों के द्वारा कोरोनो के लिए कैंडिल जलाने की घटना को सही नही माना और छात्रों से नाराजगी जाहिर की है.

कहते है संकट के समय दुश्मन भी दुश्मनी भूल कर एकजुट हो जाते है. जब बाढ़ आती है तो सांप जैसे खतरनाक जीव भी चुपचाप एक कोने में सिकुड़ कर बैठ जाते है. लेकिन "कोरोना संकट" के इस दौर में भी देश मे हिन्दू-मुस्लिम एक जुट हो कर संकट का मुकाबला नही कर रहे.

Tags:
COMMENT