अड़ियल, बड़बोले छोटे महाराज यानी उत्तर प्रदेश के कर्णधार योगी आदित्यनाथ भले कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोशल डिस्टेंसिंग की अपील दरकिनार करते हुए नवरात्र के प्रथम दिन अयोध्या पहुंच गए और अयोध्या में भगवान रामलला को टेंट से हटाकर उनके अस्थायी मंदिर में रखने के कार्यक्रम को सम्पूर्ण किया. परन्तु प्रदेश के युवाओं और बुज़ुर्गों के स्वास्थ को बरकरार रखने के लिए उन्होंने जो नेक पहल की है उसकी प्रशंसा होनी चाहिए. भले ये काम कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए किया गया हो मगर पान मसाला, तम्बाकू और गुटका चबाने जैसे जानलेवा शौक पर पूरी तरह बैन लगाने की घोषणा से कैंसर के बढ़ते मामलों पर भी रोक अवश्य लगेगी.
योगी सरकार ने जगह जगह मसाला खा कर पीक थूकने वालों पर नकेल कसने के लिए पान मसाले गुटखे आदि पर बैन लगाने का ऐलान किया है. अपर मुख्य सचिव गृह व् सूचना अवनीश कुमार अवस्थी का कहना है कि कोरोना वायरस का संक्रमण लार और थूक से होता है इसलिए इस पर रोक लगाने के लिए सरकार ने ये अहम् फैसला लिया है. उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 35 पहुंच चुकी है.

Tags:
COMMENT