ज्योतिरादित्य सिंधिया के सहयोग से कांग्रेस सरकार गिरा देने बाले शिवराज सिंह चौहान ने चौथी बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर कामकाज भी शुरू भी कर दिया है और उधर कांग्रेसी खासतौर से दिग्विजय सिंह खिसियाए हुये सिंधिया को कोसे जा रहे हैं.

यह देखा जाये तो एक बुजुर्ग नेता का बेवजह का प्रलाप है जिस पर कोई ध्यान ही नहीं दे रहा. प्रदेश में मीडिया के एक वर्ग द्वारा दिग्गी राजा के उपनाम से मशहूर कर दिये गए दिग्विजय सिंह देखा जाये तो इस बार खुद ही अपनी चालाकी और खुराफात का शिकार होकर रह गए हैं.

COMMENT