सहेली की शादी थी. फेरों की व्यवस्था छत पर की गई थी. शादी वाले दिन सुबह से ही आसमान में बादल घिर आए. सब इस चिंता में डूब गए कि पानी बरसा तो क्या होगा, पर ऊपरी मंजिल पर घर होने के कारण कुछ हो नहीं सकता था. जैसी कि आशंका थी, रात में फेरों के दौरान ही पानी अपने लावलश्कर के साथ आ पहुंचा. आंधीपानी के कारण मंडप उखड़ने लगा तो सब घबरा गए. तब कुछ युवक आगे आए, उन्होंने मंडप के खंभों को पकड़ा और वरवधू ने दौड़दौड़ कर फेरे लिए. शादी के वीडियो में जब यह दृश्य आता है तो हम सब हंसतेहंसते लोटपोट हो जाते हैं.

Tags:
COMMENT