बिहार सरकार ने नया फरमान जारी किया है कि पंडों की यह जिम्मेदारी है कि वे बालविवाह न करवाएं और वरवधू वयस्क हैं, इस आशय की सूचना प्रशासन को दें. अब होगा यह कि पंडे निसंकोच बालविवाह कराएंगे और चूंकि वयस्कता के बाबत सरकार ने उन्हें अधिकृत कर ही दिया है, इसलिए घूस और दक्षिणा खा कर वे उम्र में भी हेराफेरी करेंगे. जिसे लोग अंकुश समझ रहे हैं, वह दरअसल में पंडों की आमदनी बढ़ाने की छूट है, क्योंकि गलत जानकारी देने पर सजा की बात नहीं की गई है.

कल को मुमकिन है संघमोह और मोहन भागवत के सम्मोहन में खोए नीतीश यह हुक्म भी जारी करवा दें कि बच्चों के जन्म का पंजीयन पंडितजी से करवाया जाए. हां, बदलती हवा के बाद हो सकता है पलटीमार नीतीश कुमार को एक बार फिर मोदी और 2002 के गुजरात के दंगे याद आने लगें.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT