भाजपा सांसद और अभिनेत्री किरण खेर ने बात तो पते की कही थी कि, जिस गाड़ी में पहले से ही 3 लड़के बैठे थे उस में पीडि़ता को बैठने से परहेज करना चाहिए था.  चंडीगढ़ गैंगरेप के मामले में बोल रहीं किरण की मंशा दरअसल लड़कियों को एहतियात बरतने की सलाह देने की ही रही होगी कि उन्हें बेवजह के जोखिम उठाने के बजाय सुरक्षित विकल्प अपनाने चाहिए.

जब भी कहीं से गैंगरेप की खबर आती है तो हर किसी की पहली प्रतिक्रिया इसी तरह की रहती है. यह प्रतिक्रिया वादियों को रास नहीं आई. सोशल मीडिया पर किरण की जम कर खिंचाई हुई जिस का सार यह था कि हादसों के डर से सड़क पर चलना तो नहीं छोड़ा जा सकता. इस पर सफाई देने के लिए वे मजबूर हो गईं तो सहज लगा कि सलाह देना भी आजकल दुश्वार हो गया है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT