राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बढ़ते खर्चों का हिसाब मांगने वालों का मुंह बंद करने के लिए अब उसे मिलने वाले चंदे की गिनती का काम शुरू हो गया है. शुरुआती दौर में लोगों को इतना पता चला कि संघ को वर्ष 1928 में महज 84 रुपए मिले थे और नागपुर स्थित उस का मुख्यालय भी एक व्यापारी के दान के 6 हजार रुपए से वर्ष 1937 में बना था.

COMMENT