जब एक फिल्म असफल होती है, तो उस फिल्म से जुड़े दूसरे कलाकारों की फिल्मों को भी उसका खामियाजा भुगतना पड़ता है. यह एक कटु सत्य है. फिर भले ही कलाकार इस बात को स्वीकार करें या ना करें. फिलहाल सिद्धार्थ मल्होत्रा और परिणीति चोपड़ा के अभिनय से सजी फिल्म ‘‘जबरिया जोड़ी’’ को इसकी मिसाल कहा जा सकता है, जिसका प्रदर्शन दो बार टाला जा चुका है.

बिहार के पकड़वा विवाह पर आधारित निर्माता शोभा कपूर, एकता कपूर व शैलेश आर सिंह की फिल्म ‘‘जबरिया जोड़ी’’ में सिद्धार्थ मल्होत्रा व परिणीति चोपड़ा की जोड़ी है. इस फिल्म में सिद्धार्थ मल्होत्रा ने अभय का किरदार निभाया है, जो विवाह योग्य लड़कों को पकड़ पकड़ कर बिना दहेज के उनकी शादी करवाते हैं. तो वहीं फिल्म में बबली के किरदार में परणीति चोपड़ा हैं.

ये भी पढ़ें- असफलता की ताकत को समझना जरूरी है: अनुपम खेर

फिल्म ‘‘जबरिया जोड़ी’’ सबसे पहले 12 जुलाई को पूरे भारत के हर सिनेमाघर में प्रदर्शित होने वाली थी. लेकिन अचानक निर्माताओं ने यह कहकर इस फिल्म का प्रदर्शन टाल दिया था कि वह दूसरी फिल्मों के लिए जगह देना चाहते हैं. उसके बाद ‘‘जबरिया जोड़ी’’ के प्रदर्शन की नई तारीख 2 अगस्त 2019 तय की गयी थी. पिछले 15 दिनों से सिद्धार्थ मल्होत्रा और परिणीति चोपड़ा अपनी इस फिल्म का धुंआधार प्रचार करने के लिए मेहनत करते आए हैं. इन दोनों कलाकारों ने सिर्फ मुंबई में ही नहीं, बल्कि दिल्ली व लखनउ सहित कई दूसरे शहरों में जाकर चुनिंदा पत्रकारों से मिलने के साथ साथ प्रचारात्मक गतिविधियां भी की.

लेकिन अब अचानक एक बार फिर फिल्म के निर्माता ने इस फिल्म का प्रदर्शन टाल दिया है. उनका दावा है कि ‘जजमेंटल है क्या’, ‘कबीर सिंह’ और ‘द लौयन किंग’ बौक्स आफिस पर अच्छा व्यापार कर रही हैं, जिसके चलते 2 अगस्त से भी ज्यादातर सिनेमा घरों की स्क्रीन इन्ही फिल्मों के पास है. इसलिए अब वह अपनी फिल्म ‘‘जबरिया जोड़ी’’ को 9 अगस्त को लेकर आएंगे.

मगर बौलीवुड से जुड़े सूत्र इसे सच नहीं मान रहे हैं. इन सूत्रों के अनुसार यदि फिल्म अच्छी हो और दर्शकों को भा जाए, तो कम स्क्रीन होने पर भी फिल्म को फायदा मिलता ही है. बौलीवुड के सूत्र मानते हैं कि पिछले कुछ वर्षो में इन दोनों कलाकारों की कई फिल्में लगातार बौक्स आफिस पर दम तोड़ती रही हैं, जिसके चलते दर्शक इनकी फिल्मों से दूर रहना चाहते हैं. जी हां, सिद्धार्थ मल्होत्रा की 2016 में प्रदर्शित फिल्म ‘‘बार बार देखो’’ असफल हुई थी,  उसके बाद से ‘ए जेंटलमैन’, ‘इत्तफाक’और ‘अय्यारी’’ बाक्स आफिस पर दम तोड़ चुकी हैं. तो वहीं परिणीति चोपड़ा की 2017 में ‘‘मेरी प्यारी बिंदू’’ के अलावा 2018 में ‘‘नमस्ते इंग्लैड’’ भी बौक्स आफिस पर दम तोड़ चुकी हैं. 2018 में फिल्म ‘‘केसरी’’ को सफलता मिली थी, पर इसका सारा श्रेय अक्षय कुमार ले गए. वैसे भी फिल्म ‘‘केसरी’’ में परिणीति चोपड़ा के हिस्से करने को कुछ आया ही नहीं था. अफसोस की बात यह है कि सोशल मीडिया पर शेर बने हुए यह कलाकार साफ साफ कहते रहे हैं कि किसी भी फिल्म की असफलता के लिए सिर्फ कलाकार जिम्मेदार नहीं होता.

ये भी पढ़ें- इस अंधविश्वास के चलते शादी नहीं की थी संजीव कुमार ने

फिर भी फिल्म के निर्माताओं के साथ साथ निर्देशक प्रशात सिंह को उम्मीद थी कि वह अपनी फिल्म का प्रचार कर एक अच्छी स्थिति में ले आएंगे. इसी के चलते पूरी टीम ने फिल्म के प्रमोशन में पूरी ताकत झोंक दी. पर अभी भी बात बनती नजर नहीं आ रही हैं. अब फिल्म के प्रचार में किसकी तरफ से कमी रही, यह तो फिल्म से जुड़े लोग ही जानें. मगर यह सच है कि अभी तक दर्शकों के बीच ‘‘जबरिया जोड़ी’’  देखने की उत्सुकता नजर नहीं आ रही है.

सूत्र दावा कर रहे हैं कि फिल्म ‘‘जबरिया जोड़ी’’ को लेकर आवश्यक चर्चाएं न होती देख निर्माताओं ने इसका प्रदर्शन एक सप्ताह के लिए टालते हुए नौ अगस्त की तारीख तय की हैं. इसके पीछे शायद उनकी सोच यह है कि उन्हें 12 अगस्त को पड़ रही ‘बकरीद’ का उनकी फिल्म को फायदा मिल जाएगा.

ये भी पढ़ें- वायरल हुआ दीपिका और रणवीर का रेट्रो लुक

Tags:
COMMENT